महाराष्ट्र में अलायंस तो 'सड़ा हुआ फल', गिरनी ही चाहिए उद्धव सरकार: उमा

Aajtak | 5 days ago | 22-06-2022 | 07:29 pm

महाराष्ट्र में अलायंस तो 'सड़ा हुआ फल', गिरनी ही चाहिए उद्धव सरकार: उमा

महाराष्ट्र कीराजनीति में इन दिनों उथल-पुथल मची हुई है और उद्धव सरकार के गिरने का खतरा मंडरा रहा है. शिवसेना के प्रभावशाली नेता एकनाथ शिंदे के बगावती तेवर अपना लेने के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और शिवसेना की गठबंधन वाली सरकार मुश्किल में है.इसी दौरान बीजेपी की वरिष्ठ और फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'यह बाला साहब वाली शिवसेना नहीं है,इस सरकार को तो गिरना ही चाहिए.'महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की नेता उमा भारती ने बड़ा बयान देते हुए शिवसेना पर जमकर निशाना साधा. उमा भारती ने कहाकि महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस की गठबंधन सरकार दरअसलसड़ा हुआ फल था, जो अब टूट गयाहै.उन्होंने कहा, महाराष्ट्र में जो सरकार बनी थी वो अव्यवहारिक थी क्योंकि कांग्रेस और शिवसेना का मिलन तो हो नहीं सकता. यह तो सड़ा हुआ फल था, इनका एक ही मकसद था कि बीजेपी को सत्ता से दूर रखना है.उमा भारती ने कहा, 'यह बाला साहब वाली शिवसेना बिल्कुल नहीं थी, यह तो कांग्रेस की B टीम वाली शिवसेना है. यह सरकार जरूर गिरनी चाहिए, क्योंकि यह हिंदूविरोधी और महिला विरोधी सरकार है.'उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए उमा भारती ने कहा इस शिवसेना को नाम बदलकर 'कांग्रेस सेना' रख लेना चाहिए.बता दें कि एकनाथ शिंदे शिवसेना के 35 से ज्यादा विधायकों के साथ अचानक गायब हो गए थे. बाद में पता चला था कि वो सूरत के ले-मेरेडियन होटल में रुके थे.विधायकों को सूरत के इस होटल में आए 24 घंटे भी नहीं हुए थे और उन्हें सभी विधायकों को असम के गुवाहाटी ले जाना पड़ा. विधायकों में टूट ना हो इस वजह से शिंदे सभी को लेकर असम पहुंच गए. माना जा रहा है कि शिवसेना के सभी विधायकों को सूरत से गुवाहाटी भेजने की प्रमुख वजह सूरत और मुंबई के बीच की कम दूरी है.ये भी पढ़ें:

Google Follow Image