महाराष्ट्र में जब तक सियासी ड्रामा चलेगा, ED मुझे पूछताछ के लिए बुलाएगी: अनिल परब

Aajtak | 2 days ago | 23-06-2022 | 01:08 am

महाराष्ट्र में जब तक सियासी ड्रामा चलेगा, ED मुझे पूछताछ के लिए बुलाएगी: अनिल परब

महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना के सीनियर नेता और परिवहन मंत्री अनिल परब प्रवर्तन निदेशालय (ED) से पूछताछ का सामना कर रहे हैं. अनिल परब ने बुधवार को ईडी कार्यालय से निकलते हुए कहा कि जब तक राज्य में पॉलिटिकल ड्रामा चल रहा है, ईडी मुझे पूछताछ के लिए बुलाती रहेगी. हमें इसके पीछे का अर्थ और उद्देश्य पता लगाना है. उन्होंने कहा कि जब भी ईडी के अधिकारियों ने मुझे बुलाया है, मैं पूछताछ के लिए आया हूं.सीएम उद्धव ठाकरे के आज आधिकारिक आवास खाली करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मैं ठाकरे परिवार को बहुत करीब से जानता हूं और उन्हें सत्ता से कोई प्यार नहीं है. उन्होंने कहा कि शिवसेना बिना शक्ति के रह सकती है जिसे उद्धव ने साबित कर दिखाया है. शिवसेना संघर्ष के लिए पैदा हुई थी और शिवसेना अंत तक लड़ती रहेगी.पर्यावरण मंत्रालय के अधिकारियों ने दर्ज कराया था मामलापर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के अधिकारियों की ओर से परब और अन्य के खिलाफ पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के तहत सीआरजेड उल्लंघन और पर्यावरण संरक्षण अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था. दर्ज कराए गए मामले के आधार पर ईडी ने परब के खिलाफ जांच शुरू की और 26 मई को परब के आवासों, दापोली रिसॉर्ट, पुणे और मुंबई के अन्य स्थानों पर परब सहयोगियों के आवासों सहित विभिन्न स्थानों पर तलाशी ली. ईडी ने परब के सहयोगियों जैसे सदानंद कदम और संजय कदम से भी पहले पूछताछ की थी.जांच के दौरान यह बात सामने आई थी कि 2011 में विभा साठे नाम के एक व्यक्ति ने दापोली में एक एकड़ जमीन खरीदी थी और फिर 2017 में परब को एक करोड़ रुपये में बेच दिया था.इसके बाद परब ने जमीन पर एक रिसॉर्ट बनाया और फिर इसे सदानंद कदम को 1.1 करोड़ रुपये में बेच दिया. आयकर विभाग ने तलाशी ली थी जिसमें पता चला था कि दापोली की जमीन पर रिजॉर्ट के निर्माण पर 6 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे. सूत्रों ने कहा कि यह संदेह था कि सदानंद कदम ने अपने केबल व्यवसाय से रिसोर्ट बनाने के लिए पैसे खर्च किए थे. दापोली में परब द्वारा बनाए गए अवैध रिसॉर्ट को लेकर पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने भी अधिकारियों से कई शिकायतें की थीं.ये भी पढ़ें

Google Follow Image