महाराष्ट्र गर्वनर को मिला उपमुख्यमंत्री की पत्नी का साथ: अमृता फडणवीस बोलीं- राज्यपाल दिल से एक मराठी मानुषमहाराष्ट्रकॉपी लिंकशेयर

Dainik Bhaskar | 2 days ago | 25-11-2022 | 05:00 pm

महाराष्ट्र गर्वनर को मिला उपमुख्यमंत्री की पत्नी का साथ: अमृता फडणवीस बोलीं- राज्यपाल दिल से एक मराठी मानुषमहाराष्ट्रकॉपी लिंकशेयर

महाराष्ट्र में छत्रपति शिवाजी पर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की टिप्पणी पर विवाद के बीच, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस उनके समर्थन में उतर आई हैं। उनका मानना है कि राज्यपाल दिल से एक मराठी मानुष हैं। महाराष्ट्र आने के बाद उन्होंने मराठी सीखी है। राज्यपाल कोश्यारी की टिप्पणी के विरोध में शिंदे गुट के विधायकों ने भी नाराजगी जताई थी।अमृता बोलीं- राज्यपाल मराठी से प्यार करते हैंअमृता फडणवीस ने कहा- मैं राज्यपाल को व्यक्तिगत रूप से जानती हूं। वह वास्तव में मराठी से प्यार करते हैं। मैंने खुद यह अनुभव किया है, लेकिन ऐसा कई बार हुआ है कि उन्होंने कुछ कहा है और इसका मतलब कुछ और निकल गया, लेकिन वह दिल से एक मराठी मानुष हैं।पहले राज्यपाल का बयान पढ़िएराज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने पिछले शनिवार को औरंगाबाद में कहा था- पहले जब आपसे पूछा जाता था कि आपका आइकॉन कौन है, तो जवाब जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस और महात्मा गांधी होता था। अब महाराष्ट्र में आपको कहीं और देखने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यहां बहुत सारे आइकॉन हैं। छत्रपति शिवाजी महाराज तो पुराने दिनों के आइकॉन हैं। अब बीआर आंबेडकर और नितिन गडकरी हैं। हालांकि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक कार्यक्रम को मराठी में संबोधित करते हुए कहा कि शिवाजी महाराज हमारे भगवान हैं।उद्धव बोले- राज्यपाल के रूप में भेजा ‘अमेजन पार्सल’ वापस ले केंद्रएक दिन पहले ही उद्धव ठाकरे ने कहा था कि केंद्र सरकार राज्यपाल के रूप में भेजा ‘अमेजन पार्सल’ वापस बुला ले। हम यहां महाराष्ट्र में यह पार्सल नहीं चाहते हैं। केंद्र सरकार इस नमूने को दूसरी जगह भेजे या वृद्धाश्रम भेज दे। उद्धव ने कहा कि सभी महाराष्ट्र प्रेमी उनके बयान का विरोध करें। अगर भाजपा के लोग भी चाहें तो वे भी शामिल हो सकते हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें...शिंदे गुट के नेता भी राज्यपाल के बयान का किया था विरोधराज्यपाल के बयान पर शिंदे गुट के नेता ने भी विरोध जताया था। संजय गायकवाड़ ने कहा था- राज्यपाल को यह समझना चाहिए कि छत्रपति शिवाजी महाराज के आदर्श कभी पुराने नहीं पड़ते और उनकी तुलना दुनिया के किसी भी महान व्यक्ति से नहीं की जा सकती है। केंद्र में भाजपा नेताओं से मेरा अनुरोध है कि एक ऐसा व्यक्ति जो राज्य के इतिहास को नहीं जानता है और यह कैसे काम करता है, इसे कहीं और भेजा जाए। पूरी खबर यहां पढ़ें...महाराष्ट्र के गवर्नर से जुड़ीं और खबरें यहां पढ़ें...महाराष्ट्र के राज्यपाल बोले- मुंबई से राजस्थानियों-गुजरातियों को निकाल दो तो यहां पैसा नहीं बचेगाभगत सिंह कोश्यारी ने मुंबई में एक कार्यक्रम में मुंबई के आर्थिक राजधानी होने का क्रेडिट यहां रहने वाले राजस्थानियों और गुजरातियों को दिया था। कोश्यारी ने कहा था, 'महाराष्ट्र से, विशेषकर मुंबई और ठाणे से गुजरातियों और राजस्थानियों को निकाल दो तो तुम्हारे यहां कोई पैसा बचेगा ही नहीं। ये आर्थिक राजधानी कहलाएगी ही नहीं।' पूरी खबर पढ़ें...कोश्यारी के बयान पर उद्धव ने कहा- राज्यपाल ने महाराष्ट्र में हर चीज का आनंद लिया, अब कोल्हापुरी चप्पलें भी देखेंमहाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के गुजरातियों और राजस्थानियों वाले बयान पर जवाब दिया था। उद्धव ने कहा कि राज्यपाल ने महाराष्ट्र में हर चीज का आनंद लिया है। अब समय आ गया है कि वो कोल्हापुरी चप्पलें भी देखें। पूरी खबर पढ़ें...​​

Google Follow Image