Maharashtra Political Crisis: भाजपा गदगद- मुश्किल में उद्धव सरकार, गवर्नर कोश्यारी हुए अस्पताल में भर्ती, अब आगे होगा क्या...

India | 5 days ago | 22-06-2022 | 10:26 am

Maharashtra Political Crisis: भाजपा गदगद- मुश्किल में उद्धव सरकार, गवर्नर कोश्यारी हुए अस्पताल में भर्ती, अब आगे होगा क्या...

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी तूफान बढ़ता ही जा रहा है. एकनाथ शिंदे ने सीम उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ा दी हैं और गुवाहाटी में बैठे-बैठे ही सियासी दांव खेल रहे हैं. इन सबके बीच अचानक महाराष्ट्र के राज्यपाल  भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat singh Koshiyari) कोविड संक्रमित हो गए हैं और अस्पताल में भर्ती हो गए हैं. कोश्यारी के अस्पताल में भर्ती होना, महाराष्ट्र सरकार के लिए खतरा और बढ़ा सकता है. फिलहाल कोश्यारी को एच एन रिलायंस हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है. हालांकि गवर्नर कोश्यारी की तबीयत फिलहाल कैसी है, उनको कोविड के कितने गंभीर या सामान्य लक्षण हैं इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है.Also Read - Top10 News Today: अफगानिस्तान में भूकंप से 255 लोगों की मौत, महाराष्ट्र में सियासी तूफान जारी, हरियाणा नगर निकाय चुनाव का रिजल्ट...महाराष्ट्र में इस वक्त उद्धव ठाकरे की सरकार मुश्किल में दिख रही है तो वहीं भाजपा के खेमे में खुशी की लहर है. देवेंद्र फडणवीस कभी सीएम बनते-बनते रह गए थे, जब शिवसेना ने महाविकास अघाड़ी को स्वीकार कर सरकार बनाई थी और उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनाए गए थे. इसके बाद भाजपा इस सियासी दर्द से कराह उठी थी. अब शिवसेना के वरिष्ठ मंत्री एकनाथ शिंदे ने बागी रुख अपना लिया है और शिवसेना और निर्दलीय मिलाकर 40 विधायक के साथ बड़ा दावा पेश करने वाले हैं. इस बीच भाजपा ने अपने सभी विधायकों को आज शाम तक मुंबई पहुंचने का निर्देश दिया है. Also Read - असम का सबसे बड़ा शहर है गुवाहाटी, महाराष्ट्र के पॉलिटिकल क्राइसिस के कारण है चर्चा में, जानिये यहां के पर्यटन स्थलउधर, इन सबके बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने बाकी बचे अपने विधायकों को मुंबई के होटल में पहुंचा दिया है, क्योंकि एकनाथ शिंदे ने 40 विधायकों को साथ लाने का दावा बार-बार दोहराया है, जिसे लेकर उद्धव सरकार पर खतरा लगातार मंडरा रहा है. जानकारी मिल रही है कि दोनों तरफ से मान मनौव्वल की कोशिशें लगातार जारी हैं, लेकिन फिलहाल कोई कामयाबी मिलती नहीं दिख रही है. Also Read - Maharashtra Political Crisis: क्या इस संकट से निकल पाएगी अघाड़ी सरकार, ये आंकड़े तो उद्धव ठाकरे की नींद उड़ाने वाले हैंशिवसेना से बगावत करने वाले नेता एकनाथ शिंदे ने कहा है कि उन्होंने अभी तक शिवसेना नहीं छोड़ी है. उन्होंने कहा कि मैं बालासाहेब के हिंदुत्व और विचारधारा पर चल रहा हूं और शिवसेना का सच्चा सेवक हूं. वहीं शिवसेना के बागी विधायकों ने भी कहा है कि हम सभी एकनाथ शिंदे के साथ हैं. हमें राष्ट्रवादी कांग्रेस, एनसीपी नहीं पसंद है और उनके साथ गठबंधन हमें मंजूर नहीं है.

Google Follow Image