Maharashtra Politics: अजीत पवार बोले, महाराष्ट्र छोड़ना चाहते हैं राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी

Jagran | 5 days ago | 23-11-2022 | 06:24 am

Maharashtra Politics: अजीत पवार बोले, महाराष्ट्र छोड़ना चाहते हैं राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी

मुंबई, राज्य ब्यूरो। Maharashtra Politics: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP)नेता अजीत पवार (Ajit Pawar)ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari)उनसे कई बार कह चुके हैं कि वह महाराष्ट्र से जाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें महाराष्ट्र से बाहर जाने के लिए छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में इस प्रकार की बात नहीं करनी चाहिए थी।अब मराठी में भी लांच होगी एमबीबीएस पाठ्यक्रम की किताबें, महाराष्ट्र सरकार ने 7 सदस्यीय पैनल का किया गठन यह भी पढ़ें अजीत पवार ने कहा कि मैं जब भी राज्यपाल से मिलने गया हूं, उन्होंने मुझसे कहा कि वह महाराष्ट्र छोड़ना चाहते हैं। तब मैंने उनसे कहा कि उन्हें अपनी यह इच्छा अपने वरिष्ठों को बतानी चाहिए, लेकिन उन्हें छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में इस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए थीं। अजीत पवार ने कहा कि जब किसी सरकारी अधिकारी को उसकी इच्छा के विरुद्ध कहीं तैनाती मिलती है तो वह कुछ न कुछ विवाद खड़ा करता रहता है, ताकि सरकार पुनः उसका स्थानांतरण कर दे। मैं नहीं कह सकता कि कोश्यारी भी ऐसा ही कुछ कर रहे हैं।Mumbai : उदयनराजे भोसले ने राष्ट्रपति मुर्मू व पीएम मोदी को लिखा पत्र, कोश्यारी को बर्खास्त करने कि की मांग यह भी पढ़ें अजीत पवार राज्यपाल कोश्यारी के उस बयान पर टिप्पणी कर रहे थे, जिसमें उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज को पुराने जमाने का आदर्श बताते हुए बाबा साहब आंबेडकर और नितिन गडकरी को नए जमाने का आदर्श बताया था। उनके इस बयान के बाद से महाराष्ट्र में लगातार उनकी आलोचना हो रही है और उन्हें राज्यपाल के पद से हटाने की मांग की जा रही है।Maharashtra-Karnataka Village: उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा- महाराष्ट्र का कोई गांव कर्नाटक में नहीं जाएगा यह भी पढ़ें औरंगाबाद के एक कार्यक्रम में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कहा था कि अतीत में जब आपसे पूछा जाता था कि आपके आदर्श कौन हैं? तो जवाहर लाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस और महात्मा गांधी का नाम लिया जाता था। लेकिन महाराष्ट्र में तो सोचने की जरूरत ही नहीं है। यहां तो बहुत से आदर्श हैं। यहां छत्रपति शिवाजी महाराज जहां पुराने जमाने के आदर्श थे, उसी तरह आज बाबा साहब आंबेडकर और नितिन गडकरी नए जमाने के आदर्श बन चुके हैं। राज्यपाल के इसी बयान को लेकर न सिर्फ कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना जैसे विपक्षी दल उन्हें हटाने की मांग कर रहे हैं, वहीं मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट और भाजपा में भी कुछ लोग राज्यपाल की आलोचना कर रहे हैं।Measles Outbreak: मुंबई में खसरा का कहर जारी, आठ माह के एक और बच्चे की मौत; 13 नए मामले आए सामने यह भी पढ़ें पहले भी समाज सुधारक दंपत्ति ज्योतिराव फुले और सावित्रीबाई फुले को लेकर कोश्यारी की टिप्पणी पर विवाद हो गया था।यह भी पढ़ेंःशिवाजी महाराज के वंशज उदयन राजे ने राज्यपाल कोश्यारी को 'थर्ड क्लास' बतायाShraddha Murder Case: आफताब के हिंसक स्वभाव के बारे में जानते थे परिजन, श्रद्धा को ऐसे मना लिया था यह भी पढ़ें

Google Follow Image