Measles Outbreak: मुंबई में खसरा ने मचाई तबाही, एक और बच्चे की मौत; 114 मरीजों का चल रहा इलाज

Jagran | 2 weeks ago | 23-11-2022 | 07:33 am

Measles Outbreak: मुंबई में खसरा ने मचाई तबाही, एक और बच्चे की मौत; 114 मरीजों का चल रहा इलाज

मुंबई, मिड डे। मुंबई में मंगलवार को खसरे के कारण एक साल के बच्चे की मौत हो गई। नालासोपारा इलाके का रहने वाला बच्चा एक माह पहले से ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना कर रहा था। मुंबई में खसरे से मरने वालों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है, जबकि दो बच्चों की मौत मुंबई महानगर इलाके में हुई है। मुंबई में सोमवार को इसके कारण एक और संदिग्ध की मौत हो गई। नागरिक स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, शहर में इसके की कुल मामलों की संख्या बढ़कर 220 हो गई है।अब मराठी में भी लांच होगी एमबीबीएस पाठ्यक्रम की किताबें, महाराष्ट्र सरकार ने 7 सदस्यीय पैनल का किया गठन यह भी पढ़ें विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, खसरा के अधिकांश मामले मुंबई के M East Ward से आए हैं, जिसमें गोवंडी और मानखुर्द शामिल हैं। यहां पर इसके कुल 51 मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद एल वार्ड कुर्ला (Kurla) में 29 मामले सामने आए हैं। ई वार्ड में छह मामले और उत्तर वार्ड में 14 मामले दर्ज किए गए हैं। दादर में इसके एक मामले, जबकि वर्ली में तीन मामले सामने आए हैं। एम वेस्ट वार्ड चेंबूर में इसके नौ मामले, पी नर्थ वार्ड मालडा में पांच मामले, एच ईस्ट वार्ड ( बांद्रा) में 11 मामले सामने आए हैं। यहां पर अभी तक 220 मामलों की पुष्टी हुई है। हालांकि 3,378 संदिग्ध मामले हैं।Mumbai : उदयनराजे भोसले ने राष्ट्रपति मुर्मू व पीएम मोदी को लिखा पत्र, कोश्यारी को बर्खास्त करने कि की मांग यह भी पढ़ें राज्य में खसरे की बढ़ती संख्या को देखते हुए अंधेरी के Seven Hills Hospital ने मरीजों के लिए 120 बिस्तर अलग रखे हैं। बोरीवली पूर्व में क्रांतिज्योति सावित्रीबाई फुले अस्पताल और कांदिवली में डा अंबेडकर अस्पताल ने क्रमशः 10 और पांच बिस्तर आरक्षित कर दिए हैं। मुंबई में इसके लिए कुल 316 बिस्तर उपलब्ध हैं, जिनमें से 114 भरे हुए हैं और 220 खाली हैं।Maharashtra-Karnataka Village: उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा- महाराष्ट्र का कोई गांव कर्नाटक में नहीं जाएगा यह भी पढ़ें यह भी पढ़ें-Shraddha Walker Murder Case: देवेंद्र फडणवीस ने कहा- शिकायत पत्र पर कार्रवाई हुई होती तो बचाई जा सकती थी जानयह भी पढ़ें-Fact Check: हिमाचल और गुजरात चुनाव के Exit Poll पर गुजरात चुनाव के खत्म होने तक प्रतिबंध

Google Follow Image