Mumbai: ओला कैब चालक की गलती पड़ी सात लोगों पर भारी, ब्रेक लगाने की जगह बढ़ाई स्‍पीड, मारी टक्‍कर

Jagran | 2 weeks ago | 22-09-2022 | 03:57 am

Mumbai: ओला कैब चालक की गलती पड़ी सात लोगों पर भारी, ब्रेक लगाने की जगह बढ़ाई स्‍पीड, मारी टक्‍कर

मुंबई, मिड डे। मुंबई (Mumbai) के घाटकोपर (Ghatkopar) इलाके में बुधवार दोपहर को एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक अनियंत्रित ओला कैब (Ola Cab) के सामने आकर सात लोग घायल हो गए। दरअसल, ऐसा तब हुआ जब कार में ड्राइवर की सीट पर उसका दोस्त बैठा, जिसे गाड़ी चलाने की समझ नहीं थी। कैब ड्राइवर संतोष यादव ने अपने दोस्त राजू यादव को कार की चाबी इसलिए दी थी क्योंकि उसे अपना मोबाइल चार्ज करना था। जैसे ही उसने गाड़ी स्टार्ट की, कार हिलने लगी।Dussehra Rally: शिवाजी पार्क में दशहरा रैली नहीं कर पाएंगे उद्धव और शिंदे गुट, हाई कोर्ट में कल फिर होगी सुनवाई यह भी पढ़ें राजू इन सबसे घबरा गया और ब्रेक लगाने के बजाय और कार की स्पीड बढ़ा दी और आगे जाकर तीन आटो और पैदल चल रहे कुछ लोगों से जा टकराया। इस दुर्घटना में सात लोग घायल हो गए हैं, जिनमें एक महिला, तीन पुरुष और एक बच्चा है, जबकि दो अन्य को पुलिस ने आनन-फानन में पास में स्थित राजावाड़ी अस्पताल में पहुंचाया है।ATS Raid: महाराष्ट्र एटीएस ने पीएफआइ के 20 कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार यह भी पढ़ें अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, सभी घायलों की स्थिति अभी स्थिर है। घायलों की पहचान राजेंद्र प्रसाद बिंदवे (49), सपना संगारे (35), आदित्य संगारे (9), वैष्णवी काले (16), जयराम यादव (46), श्रद्धा सुश्वीरकर (17) भरत शाह (65) के रूप में हुई है।मामले को लेकर पंत नगर के सीनियर इंस्पेक्टर रविदत्ता सावंत ने कहा, घटना गलती से हुई जब राजू ने अपना फोन चार्ज करने के लिए कार स्टार्ट करने की कोशिश की और जाकर आटो और राहगीरों से जा टकराया। इसकी जांच की जा रही है।महाराष्ट्र के ठाणे में बड़ा हादसा, इमारत का एक हिस्सा गिरने से दो महिला समेत चार लोगों की मौत; रेस्क्यू जारी यह भी पढ़ें हमारे देश सहित दुनिया के तमाम हिस्सों में सड़क हादसों में हर साल कई लोगों की जानें जाती हैं। इसमें यातायात नियमों के बारे में पर्याप्त जानकारी न होना और लापरवाही प्रमुख वजहें हैं।राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों की बात करें, तो देश में 2020 में यातायात संबंधी दुर्घटनाओं की संख्या 3,68,828 रही, जो 2021 में बढ़कर 4,22,659 हो गई।इसमें सबसे अधिक मौतें उत्तर प्रदेश से हुई हैं, जो 24,711 हैं।महाराष्ट्र की अगर बात करें, तो साल 2020 में यहां 24,908 हादसे हुए, जो 2021 में बढ़कर 30,086 हो गए।

Google Follow Image