Mumbai: दोस्त ने ही किया था सूरज का कत्ल, CCTV से हुआ उभरते सिंगर की मौत का खुलासा

Jagran | 4 days ago | 06-08-2022 | 03:03 am

Mumbai: दोस्त ने ही किया था सूरज का कत्ल, CCTV से हुआ उभरते सिंगर की मौत का खुलासा

मुंबई, जागरण डिजिटल डेस्क। अंधेरी के वर्सोवा में करीब दो हफ्ते पहले 20 साल के उभरते सिंगर सूरज तिवारी के हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मुंबई पुलिस ने मामले में मोनू नाम के बेघर युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि मोनू और सूरज तिवारी दोस्त थे। दोनों साथ में नशे का सेवन करते थे। दोनों के बीच किसी विवाद में मोनू ने सूरज की हत्या कर दी थी। 24 जुलाई को सूरज तिवारी का शव सड़क पर मिला था।Mumbai: ऑरिजिनल टीवी, मोबाइल बदलकर डिब्बों में रखते थे नकली सामान, पुलिस ने दो डिलीवरी बॉय को किया गिरफ्तार यह भी पढ़ें सिंगर बनने मुंबई आया था सूरजमीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मृतक सूरज हाल ही में दिल्ली से सिंगर बनने का सपना लेकर मुंबई आया था। वह अंधेरी के फूटपाथ पर रहता और गाना गाता था। टेलीविजन रियलिटी शो देखकर सूरज को लगता कि दुखभरी कहानी और जीवन-यापन के लिए संघर्ष कर रहे प्रतिभाशाली कलाकारों के ऑडिशन में चुने जाने की संभावना अधिक होती है। अपनी दुखभरी जीवन पृष्ठभूमि को दिखाने के लिए वह मुंबई के वर्सोवा, जुहू और लोखंडवाला में सड़कों पर गिटार बजाकर गाना गाने लगा। चूंकि इन इलाकों में ज्यादातर बड़ी हस्तियां रहती हैं, उसे उम्मीद थी कि किसी बड़ी हस्ती की नजर उसपर पड़ेगी और उसे काम मिलेगा।Mumbai Fire: मुंबई के सेवरी में हे बंदर के पास लगी आग यह भी पढ़ें ऑडिशन के लिए छोड़ा घरपुलिस के मुताबिक, सूरज महज डेढ़ साल का था जब उसकी मां की मौत हो गई। सूरज के पिता ने उसे चाचा के पास छोड़ दिया और दूसरी शादी कर ली। सूरज का एक इंस्टाग्राम पेज भी था जहां वह अपने स्ट्रीट परफॉर्मेंस के वीडियो पोस्ट करता था। लोगों की सहानुभूति पाने के लिए उसने अपने चाचा का घर भी छोड़ दिया ताकि लोग उसे अनाथ प्रतिभाशाली कलाकार समझे। मुंबई आने के बाद सूरज ने कई ऑडिशन्स के लिए अप्लाई किया था। अंधेरी और लोखंडवाला में कुछ लोगों ने उसका वीडियो इंटरनेट पर डाला था, जिससे उसे थोड़ी बहुत लोकप्रियता मिली थी।दोस्त ने की हत्यापुलिस ने बताया कि एक महीने पहले सूरज की आरोपित मोनू से दोस्ती हुई थी। सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस आरोपित तक पहुंची। वर्सोवा पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा कि सूरज तिवारी और मोनू अक्सर एक साथ गांजा पीते थे। मोनू भी अंधेरी के सड़कों पर रहकर गाना गाता था। तिवारी की हत्या से पहले दोनों के बीच झगड़ा हुआ और तिवारी ने मोनू को पीटा था। 23 जुलाई की रात दोनों ने साथ में नशा किया जिसके बाद मोनू ने पत्थर से सूरज की हत्या कर दी।

Google Follow Image