नर्मदापुरम! गो तस्करों का लोकल कनेक्शन: मवेशियों की तस्करी में सेठी और राजा बने आरोपी, ये ही भेज रहे थे मवेशी अमरावतीमहाराष्ट्रकॉपी लिंकशेयर

Dainik Bhaskar | 1 week ago | 06-08-2022 | 10:00 am

नर्मदापुरम! गो तस्करों का लोकल कनेक्शन: मवेशियों की तस्करी में सेठी और राजा बने आरोपी, ये ही भेज रहे थे मवेशी अमरावतीमहाराष्ट्रकॉपी लिंकशेयर

नर्मदापुरम जिले के सिवनी मालवा के पास बराखड़ में तीन दिन पहले हुई मॉब लिंचिंग से हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी सिवनी मालवा शहर के रहने वाले है। जिन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इधर गो तस्करी के आरोप में भी पुलिस लोकल कनेक्शन तलाशने में सफलता की ओर है। पुलिस ने नंदरवाड़ा और कुकड़ी गांव के दो युवकों को तस्करी के आरोप में मुल्जिम बनाया है। एक आरोपी राजा और दूसरा सेठी उर्फ इरशाद निवासी कुकड़ी थाना पथरौटा है। यह दोनों ही आरोपी मवेशियों को खरीदने--बेचने का धंधा करते। ट्रक ड्राइवर शेख लाला ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि राजा और इरशाद उर्फ सेठी के कहने पर ही हम 2 अगस्त को अमरावती से ट्रक लेकर सिवनी मालवा के नंदरवाड़ा पहुंचे थे। गोवंश की तस्करी में लोकल व्यक्ति मुल्जिम बनने से दैनिक भास्कर डिजिटल की खबर पर मुर्हुर लग गई है। 5 अगस्त को दैनिक भास्कर ने “नर्मदापुरम के मॉब लिंचिंग वाले गांव का सच: मवेशी जंगल में घुस जाएं तो लौटकर नहीं आते; तस्कर सीधे कत्लखाने ले जाते हैं” शीर्षक से खबर प्रकाशित की। जिसमें नंदरवाड़ा गांव से मवेशियों की तस्करी और तस्करी में लोकल व्यक्तियों का जुड़े होना बताया। पुलिस की जांच में गोवंश तस्करी में लोकल व्यक्ति का सहयोग सामने आया है।आरोपियों ने मोबाइल किए बंद, तलाश में जुटी पुलिसगो तस्करी में पुलिस ने ट्रक ड्राइवर शेख लाला, मृतक नाजिर अहमद, मुस्ताक अहमद के अलावा सेठी उर्फ इरशाद और राजा को मुल्जिम बनाया है। अब केस में पांच तस्कर हो चुके है। जिसमें एक की मौत और दो पुलिस अभिरक्षा में उपचार करा रहे है। टीआई जितेंद्र सिंह यादव ने बताया राजा और इरशाद की तलाश की जा रही है। दोनों के मोबाइल बंद है। ड्राइवर ने इन दोनों के नाम बताएं है। हत्या के मामले में तीन ओर आरोपी चेतन मराठा, देवेंद्र कोरी, राजा कौशल को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।बड़ा सवाल : गो-वंश तस्करी में पुलिस का खुफिया तंत्र कमजोर?नर्मदापुरम के हाइवे से होते हुए महाराष्ट्र अवैध तरह से मवेशी भरकर जाते है। नर्मदापुरम जिले के माखननगर, सिवनी मालवा क्षेत्र से भी मवेशियों का परिवहन होता है। गो-तस्करों का रूट नर्मदापुरम, बैतूल है। इन मार्ग पर देहात थाना नर्मदापुरम, इटारसी, पथरोटा, केसला, शाहपुर थाने पाते है। इसी प्रकार सिवनी मालवा ढेकना के रास्ते सिवनी मालवा, चिचोली बैतूल के थाने और चैकपोस्ट आते हैं। बावजूद गोतस्करों और उनकी गाड़ियों पर पुलिस की नजर नहीं पड़ती। बैतूल में या नर्मदापुरम गो सेवक और हिन्दुओं द्वारा गाड़ी पकड़वाने पर पुलिस को खबर मिलती। गो तस्करी के मामले में पुलिस का खुफिया तंत्र क्या कर रहा है। बड़ा सवाल है कि खुफिया तंत्र और एसपी की टीम माॅब लिंचिंग के बाद सक्रिय हुई, यह फेलियर किसका है। आखिर सिवनी मालवा थाना के उस बीट के स्टॉफ को गो तस्करी की सूचना मिलने में देरी क्यों?यह है पूरा मामलामंगलवार रात नंदरवाड़ा गांव से 3 लोग 30 मवेशियों को ट्रक में ठूंस-ठूंसकर महाराष्ट्र के अमरावती ले जा रहे थे। यहां से करीब 10 किमी दूर बराखड़ गांव में गो सेवकों और ग्रामीणों ने ट्रक रोक लिया। पता चला कि ट्रक में दो गायों की मौत हो गई। यह देख भीड़ ने तीनों पर हमला कर दिया। इसका वीडियो भी सामने आया। वीडियो में आक्रोशित भीड़ लाठी-डंडों से पीटती दिख रही है। कुछ लोग मारो-मारो चिल्ला रहे हैं। वीडियो में कुछ लोग ट्रक वालों को बचाने का प्रयास भी करते दिख रहे हैं। वहां मौजूद कुछ लोगों ने बचाया नहीं होता तो दो और लोगों की मौत हो सकती थी। तीनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया, यहां नाजिर अहमद की मौत हो गई। ट्रक ड्राइवर शेख लाला और उसका साथी मुस्ताक अहमद जख्मी हैं। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में नाजिर की मौत की वजह सांस नली में उल्टी घटकना सामने आई है। बता दें, इससे पहले जिले के माखननगर में भी पशुओं के अवैध परिवहन की घटना सामने आती रही हैं।ये भी पढ़ेंMP में मॉब लिंचिंग, एक की मौत:सिवनी-मालवा में गायों को ले जा रहे युवकों पर हमला; घायल बोला- कुछ पूछा नहीं,पीटना शुरू कर दियाएक दिन बाद सामने आया मॉब लिंचिंग का VIDEO:सिवनी-मालवा में भीड़ डंडों से पीटती रही, लोगों ने बचाया नहीं होता तो दो और भी मारे जातेनर्मदापुरम के मॉब लिंचिंग वाले गांव का सच:मवेशी जंगल में घुस जाएं तो लौटकर नहीं आते; तस्कर सीधे कत्लखाने ले जाते हैं

Google Follow Image