बागी विधायकों को चुकानी पड़ेगी कीमत; सरकार बचाने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे: NCP प्रमुख शरद पवार

India | 4 days ago | 23-06-2022 | 08:16 pm

बागी विधायकों को चुकानी पड़ेगी कीमत; सरकार बचाने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे: NCP प्रमुख शरद पवार

महराष्ट्र में जारी सियासी संकट (Maharashtra Political Crisis) के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मोर्चा संभाला और कहा कि सरकार बचाने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे. गुरुवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए NCP प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा कि बहुमत का फैसला विधानसभा में होगा. उन्होंने कहा कि उद्धव सरकार ने काफी अच्छा काम किया है और ये वक्त किसी की गलती निकालने का नहीं है. विधायक मुंबई आएंगे तो तस्वीर साफ होगी. उन्होंने कहा कि बागी विधायकों को इसकी कीमत चुकानी पडे़गी.Also Read - Maharashtra Political Crisis Updates: एकनाथ शिंदे ने डिप्टी स्पीकर को भेजी चिट्ठी, खुद को विधायक दल का बताया नेताEveryone knows how the rebel Shiv Sena MLAs were taken to Gujarat & then Assam. We don't have to take the names of all those assisting them…Assam Government is helping them. I don't need to take any names further: NCP chief Sharad Pawar— ANI (@ANI) June 23, 2022 Also Read - विधायकों की अयोग्यता की अर्जी पर एकनाथ शिंदे का पलटवार, 'हम बालासाहेब ठाकरे के अनुयायी हैं, धमकियों से नहीं डरते'शरद पवार ने कहा कि ‘सब जानते हैं कि कैसे शिवसेना के बागी विधायकों को गुजरात और फिर असम ले जाया गया. हमें उनकी मदद करने वालों का नाम लेने की जरूरत नहीं है…असम सरकार उनकी मदद कर रही है. मुझे आगे किसी का नाम लेने की जरूरत नहीं है. एक बार (शिवसेना) विधायक मुंबई लौट आएंगे तो स्थिति बदल जाएगी. Also Read - महाराष्ट्र सियासी संकट: बीजेपी नेता नारायण राणे ने कहा- बागी विधायकों को धमकी न दें शरद पवार, इसके परिणाम भुगतने होंगेवहीं, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की बैठक के बाद डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा कि हम अंत तक उद्धव ठाकरे का समर्थन करेंगे. NCP नेता अजित पवार ने कहा कि सरकार को बचाना तीनों दलों (एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना) की जिम्मेदारी है. संजय राउत ही जानते हैं कि उन्होंने ऐसा बयान क्यों दिया (शिवसेना MVA से बाहर निकलने पर विचार कर रही है)? अजित पवार ने कहा कि हम अंत तक उद्धव ठाकरे जी के साथ खड़े रहेंगे. हम मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर नजर रख रहे हैं.सरकार को बचाना तीनों दलों (एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना) की जिम्मेदारी है। संजय राउत ही जानते हैं कि उन्होंने ऐसा बयान क्यों दिया (शिवसेना MVA से बाहर निकलने पर विचार कर रही है): NCP नेता और महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार pic.twitter.com/YRZAPcZMpV— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 23, 2022वहीं, एनसीपी नेता छगन भुजबल ने कहा कि हम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ खड़े हैं और अंतिम क्षण तक उनका समर्थन करेंगे. हमारे पास सरकार के लिए नंबर हैं, क्योंकि शिवसेना के किसी विधायक ने इस्तीफा नहीं दिया है और न ही शिवसेना ने किसी को पार्टी से निष्कासित किया है.मालूम हो कि लगभग 41 विधायकों के साथ गुवाहाटी में डेरा डाले एकनाथ शिंदे ने शिवसेना से कांग्रेस और शरद पवार की NCP से गठबंधन तोड़ने की मांग करते हुए कहा था कि गठबंधन के शासन के पिछले ढाई साल में सबसे ज्यादा नुकसान शिवसैनिकों को हुआ है.(इनपुट: ANI)

Google Follow Image