...तो सीएम के साथ-साथ छोड़ दूंगा शिवसेना अध्यक्ष का भी पद, जनता के नाम उद्धव ठाकरे के संबोधन की 10 बातें

India | 2 days ago | 22-06-2022 | 07:27 pm

...तो सीएम के साथ-साथ छोड़ दूंगा शिवसेना अध्यक्ष का भी पद, जनता के नाम उद्धव ठाकरे के संबोधन की 10 बातें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बुधवार को फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता को संबोधित किया और अपनी चुप्पी तोड़ी. संबोधन के दौरान उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना (Shiv Sena) कभी हिन्दुत्व नहीं छोड़ेगी. उद्धव ने कहा कि अगर कोई असंतुष्ट विधायक चाहता है कि मैं मुख्यमंत्री नहीं रहूं, तो मैं तुरंत इस्तीफा देने के लिए तैयार हूं. उद्धव ने कहा, मैं किसी भी चुनौती से पीछे हटने वाला नहीं हूं. उन्होंने शिवसैनिकों का आह्वान करते हुए कहा कि मेरे साथ गद्दारी न करें. उद्धव ने कहा कि मेरे साथ जब तक शिवसेना के कार्यकर्ता हैं, तब तक मैं किसी भी चुनौती से नहीं डरूंगा. अगर शिवसैनिकों को लगता है कि मैं शिवसेना प्रमुख बनने लायक नहीं हूं तो मैं उसे भी छोड़ने के लिए तैयार हूं. उद्धव ने कहा कि आज मैं अपना इस्तीफा तैयार करके रखता हूं. जो विधायक मेरा इस्तीफा चाहते हैं वो मेरे सामने आएं. मैं उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दूंगा.Also Read - Maharashtra Political Crisis Live Updates: महाराष्ट्र की जनता को संबोधित कर बोले सीएम उद्धव, 'शिवसेना कभी हिन्दुत्व नहीं छोड़ेगी'महाराष्ट्र की विधानसभा में कुल 288 सदस्य हैं, ऐसे में देखें तो सरकार बनाने के लिए 145 विधायक चाहिए. शिवसेना के एक विधायक का निधन हो गया है, जिसके चलते अब 287 विधायक बचे हैं और सरकार के लिए 144 विधायक चाहिए. बगावत से पहले शिवेसना की अगुवाई में बने महा विकास अघाड़ी के 169 विधायकों का समर्थन हासिल था जबकि बीजेपी के पास 113 विधायक और विपक्ष में 5 अन्य विधायक हैं. Also Read - उद्धव ठाकरे का राजनीतिक संकट गहराया, विद्रोही नेता एकनाथ शिंदे ने शिवसेना पर ठोंका दावा ? | Watch Video

Google Follow Image