Mumbai में पूर्व मंत्री नवाब मलिक की जमानत याचिका पर पर कोर्ट का फैसला 30 नवंबर तक टला, कहा - आदेश तैयार नहीं

Jagran | 4 days ago | 24-11-2022 | 03:20 am

Mumbai में पूर्व मंत्री नवाब मलिक की जमानत याचिका पर पर कोर्ट का फैसला 30 नवंबर तक टला, कहा - आदेश तैयार नहीं

मुंबई, पीटीआई : मनी लॉन्ड्रिंग मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री नवाब मलिक की जमानत याचिका पर फैसला 30 नवंबर को सुनाए जाने की संभावना है। एक विशेष अदालत ने गुरुवार को कहा कि आदेश अभी तैयार नहीं है।विशेष न्यायाधीश आर एन रोकड़े ने 14 नवंबर को मलिक की जमानत याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित किया था, लेकिन दोनों पक्षों की लंबी दलीलों को सुनने के बाद उसे गुरुवार के लिए टाल दिया था। लेकिन जैसे ही मामला गुरुवार को आया, अदालत ने कह दिया कि आदेश तैयार नहीं है।गलवन ट्वीट के लिए ऋचा चड्ढा पर पुलिस केस चाहती है भाजपा, गुलाम कश्मीर को लेकर सेना के बयान पर कसा था तंज यह भी पढ़ें दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों की गतिविधियों से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में इस साल फरवरी में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता नवाब मलिक को गिरफ्तार किया था। जो कि अभी न्यायिक हिरासत में है। मालिक का फिलहाल एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।मालिक ने विशेष अदालत में जुलाई महीने में नियमित जमानत याचिका दायर की थी। मालिक ने यह कहते हुए जमानत मांगी कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है, जिससे उनके ऊपर कोई मुकदमा चलाया जाए। हालांकि, जांच एजेंसी ने दाऊद इब्राहिम और उसके गुर्गों के खिलाफ जमानत का विरोध किया। ईडी ने दावा किया है कि आरोपीत मालिक दाऊद इब्राहिम और उसकी बहन हसीना पारकर के साथ काम कर रहा था और उसके निर्दोष होने का कोई सवाल ही नहीं है।Maharashtra Politics: शिवाजी पर टिप्पणी को लेकर उद्धव बोले, राज्यपाल कोश्यारी को नहीं हटाया गया तो आंदोलन होगा यह भी पढ़ें मालिक के खिलाफ यह मामला एनआईए द्वारा फाइल एक प्राथमिकी के आधार पर किया है, यह प्राथमिकी 1993 के मुंबई बम विस्फोट मामले के प्रमुख आरोपी दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत दायर की गई थी।Mumbai Politics: छत्रपति शिवाजी महाराज को लेकर कोश्यारी के बयान पर महाराष्ट्र में चल रहा राजनीतक भूचालMumbai News: जमानत मिलने के बाद फरार गैंगस्टर अमर नाईक का साथी 23 साल बाद गिरफ्तार यह भी पढ़ें अब मराठी में भी लांच होगी एमबीबीएस पाठ्यक्रम की किताबें, महाराष्ट्र सरकार ने 7 सदस्यीय पैनल का किया गठन

Google Follow Image