उमेश कोल्हे हत्याकांड: वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने की थी बिरयानी पार्टी

Aajtak | 6 days ago | 05-08-2022 | 08:25 pm

उमेश कोल्हे हत्याकांड: वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने की थी बिरयानी पार्टी

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या वाले मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. NIA द्वारा जांच के दौरान कई आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. अब जांच एजेंसी ने एक और बड़ा खुलासा कर दिया है. इस खुलासे में NIA ने बताया है कि आरोपियों ने उमेश कोल्हे की हत्या करने के बाद जश्न भी मनाया था. सभी ने बिरयानी पार्टी का आयोजन किया था.अभी इस समय सभी आरोपियों को 12 अगस्त तक कस्टडी में भेज दिया गया है. NIA खुलासे की बात करें तो इरफान के ड्राइवर अब्दुल अरबाज और मौलवी मुश्फीक अहमद ने उमेश कोल्हे की हत्या के बाद जश्न की तैयारी की थी. वो पार्टी उनके द्वारा सभी दूसरे आरोपियों के लिए रखी गई थी. अब वो पार्टी कहा की गई, कितने बजे हुई, इसे लेकर NIA ने कुछ नहीं बताया है.अमरावती पुलिस के मुताबिक, 54 साल के केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की 21 जून को हत्या कर दी गई थी और इस सिलसिले में अब तक सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. यह घटना राजस्थान के उदयपुर में एक टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने से एक हफ्ते पहले हुई थी.अमरावती सिटी कोतवाली के एक अधिकारी ने बताया था, 'उमेश कोल्हे अमरावती शहर में एक मेडिकल स्टोर चलाते थे. उन्होंने कथित तौर पर नूपुर शर्मा के समर्थन में उनकी टिप्पणियों के लिए कुछ वाट्सएप ग्रुपों पर एक पोस्ट साझा किया था. उन्होंने गलती से पोस्ट को एक ऐसे ग्रुप में साझा कर दिया था, जिसमें कुछ मुस्लिम भी सदस्य थे, जिसमें उनके ग्राहक भी शामिल थे.'इसके बाद ही उमेश की हत्या की प्लानिंग की गई और फिर 21 जून को उन्हें जान से मार दिया गया. वैसे उमेश के अलावा उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के दौरान भी नूपुर कनेक्शन सामने आया था. वहां पर कन्हैयालाल के बेटे ने सोशल मीडिया पर नूपुर के समर्थन में एक पोस्ट किया था. उसी वजह से कन्हैयालाल की हत्या कर दी गई.

Google Follow Image