Varsha Raut at ED Office: ईडी के समक्ष पेश हुई वर्षा राउत, पात्रा चॉल के मामले में मिला था समन

Jagran | 6 days ago | 06-08-2022 | 12:26 pm

Varsha Raut at ED Office: ईडी के समक्ष पेश हुई वर्षा राउत, पात्रा चॉल के मामले में मिला था समन

मुंबई, एजेंसी। पात्रा चॉल के पुनर्विकास और उसके लेन-देन में हुई कथित वित्तीय अनियमितताओं के मामले में शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत आज प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समक्ष पेश हुईं। ईडी ने इसी सप्ताह उनको समन जारी किया था। इसके चलते वर्षा राउत आज सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर मुंबई के बलार्ड एस्टेट स्थित ईडी कार्यालय पहुंची।समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, पेशी के दौरान वर्षा अपने पति संजय राउत से भी मिल सकती हैं, जो मामले के अन्य आरोपियों के साथ ईडी की हिरासत में हैं। इस दौरान ईडी कार्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। बता दें कि ईडी गोरेगांव इलाके में स्थित पात्रा चॉल के पुनर्विकास से सबंधित 1,034 करोड़ रुपये के कथित भूमि घोटाले की जांच कर रही है।हर घर तिरंगा अभियान: महाराष्ट्र के ठाणे में 17 लाख तिरंगे फहराए जाने की योजना यह भी पढ़ें गौरतलब है कि ईडी ने इस मामले में राज्यसभा सांसद संजय राउत को 1 अगस्त को गिरफ्तार किया था। इसके बाद स्थानीय अदालत ने उन्हें 8 अगस्त तक हिरासत में भेज दिया था। अदालत में ईडी ने बताया था कि संजय राउत और उनके परिवार ने आवास पुनर्विकास परियोजना में कथित वित्तीय अनियमितताओं के जरिए एक करोड़ रुपये से अधिक की आय की है, जो कि अपराध की श्रेणी में आता है।इसके अलावा, ईडी ने मामले की जांच करते हुए अप्रैल में वर्षा राउत और संजय राउत के दो सहयोगियों की 11.15 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क किया था। यह संपत्ति गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व निदेशक और संजय राउत के सहयोगी प्रवीण एम राउत की है, जो पालघर, सफल (पालघर में एक शहर) और पड़घा (ठाणे जिले में) में है। इन संपत्तियों में मुंबई के दादर में स्थित वर्षा राउत का फ्लैट और अलीबाग में किहिम समुद्र के किनारे पर आठ प्लाट शामिल हैं।इन फ्लैट और प्लाटों का स्वामित्व वर्षा राउत और संजय राउत के सहयोगी सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना पाटकर के पास है। ईडी के मुताबिक चॉल के चॉल के पुनर्विकास में गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड शामिल थी। इस चॉल में महाराष्ट्र हाउसिंग एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (म्हाडा) से संबंधित 47 एकड़ में 672 किराएदार रहते थे।

Google Follow Image